अडाणी पावर प्लांट के शिलान्यास समारोह में शामिल हो सकते हैं प्रधानमंत्री

2014_8img25_Aug_2014_AP8_25_2014_000145B3-600x338

गोड्डा: गोड्डा में स्थापित होने वाले अडाणी पावर प्लांट के शिलान्यास समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हो सकते हैं। बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को भी इस कार्यक्रम में भाग लेने का न्योता दिया जाएगा। बुधवार को अडाणी ग्रुप के प्रबंध निदेशक राजेश अडाणी से मुलाकात के क्रम में मुख्यमंत्री रघुवर दास ने दोनों देशों के प्रधानमंत्री को इस समारोह का हिस्सा बनाने के लिए आमंत्रण भेजने की बात कही। अडाणी पावर प्लांट का शिलान्यास दिसंबर माह में करने की तैयारी चल रही है।

मुख्यमंत्री ने उद्योग सचिव सुनील वर्णवाल से कहा कि वे बांग्लादेश की प्रधानमंत्री को कार्यक्रम में आमंत्रित करने के लिए पत्र भेजें और वहां के राजदूत से व्यक्तिगत तौर पर मुलाकात भी करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि गोड्डा में बन रहे अडाणी पावर प्लांट से बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि कंपनी स्थानीय लोगों को अपनी जरूरत के हिसाब से प्रशिक्षित करे और उन्हें रोजगार दे। इससे प्लांट शुरू होते ही कंपनी को प्रशिक्षित लोग मिल जाएंगे। सीएम ने कंपनी प्रबंधन को सलाह दी कि वे हाउसकीपिंग, फिटर, वेल्डर, मैकेनिकल इंजीनियर समेत अन्य जरुरतों के हिसाब से स्थानीय लोगों को तैयार करें। मुख्यमंत्री ने कंपनी से सीएसआर गतिविधियों के तहत गोड्डा समेत संताल के जनजातीय बाहुल्य क्षेत्रों में एकलव्य विद्यालय के प्रारूप पर 100 विद्यालय बनाने का अनुरोध किया। कहा, शिक्षा ही गरीबी को समाप्त करने का सबसे कारगर और प्रभावी तरीका है। लोग शिक्षित होंगे तो अपने पैरों पर खड़े हो सकेंगे, उनकी सोच में बदलाव आएगा। वे गरीबी रेखा के ऊपर उठ पाएंगे।

अडाणी ग्रुप के प्रबंध निदेशक राजेश अडाणी ने बताया कि 1600 मेगावाट उत्पादन की क्षमता वाले अल्ट्रा सुपर क्रिटिकल थर्मल पावर प्लांट के माध्यम से बड़ी संख्या में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार का सृजन होगा। इस मौके पर उद्योग सचिव सुनील वर्णवाल, अडाणी ग्रुप के सीईओ राजेश झा (प्रोजेक्ट) केएस नागेंद्र, हेड कॉरपोरेट अफेयर (झारखंड) अमृतांशु प्रसाद, साइट हेड (गोड्डा) नरेश गोयल भी उपस्थित थे।