मोकामा में 3000 ट्रक जाम में फंसे: फल, सब्जी, अंडा, दूध उत्पाद, मछली और मक्खन सब हो रहा खराब


पटना: बिहार सरकार की बालू नीति 2017 और लखीसराय जमुई में अवैध बालू उठाव के खिलाफ ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के कारण मोकामा में हजारों ट्रक फंसे हुए हैं। हाथीदह और मोकामा में लगभग तीन हजार ट्रक जहां तहां-फंसे हैं।

ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल के कारण दूसरे राज्यों से कच्चा माल लेकर आ रहे ट्रक चालक काफी परेशान हैं। विगत पांच दिनों से ट्रक चालक मोकामा में ही रुके हुए हैं। प्रशासन की कोई कार्रवाई नहीं होने से स्थानीय ट्रांसपोर्टरों की गुंडागर्दी बढ़ी हुई है। पिछले पांच दिनों से लगातार मालवाहक वाहनों का परिचालन स्थानीय ट्रांसपोर्टरों ने रोक रखा है। शुक्रवार सुबह जाम में फंसे दूसरे राज्यों के ट्रक चालकों ने हंगामा भी किया। मोकामा जीरो माइल पर ट्रक चालकों ने सड़क जाम कर सभी प्रकार के वाहनों का परिचालन रोक दिया। मौके पर पहुंची मोकामा थाना की पुलिस ने किसी तरह समझा बुझाकर साथ जाम हटाया।
जाम में दूसरे राज्यों तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, हिमाचल प्रदेश से फल, सब्जियों, अंडा, दूध उत्पाद, मछली, मक्खन सहित अन्य सामान लेकर चलने वाले हजार से ज्यादा ट्रक फंसे हुए हैं। इन ट्रांसपोर्टरों को कच्चा माल खराब होने का डर सता रहा है। ट्रक चालकों को खाने-पीने की किल्लत का भी सामना करना पड़ रहा है।
जाम में फंसे ट्रक चालकों ने कहा कि यदि आज शाम तक उनको नहीं जाने दिया जाएगा तो वे लोग भी सड़क जाम कर देंगे और सभी प्रकार के वाहनों का परिचालन रोक दिया जाएगा।